विदेशी मुद्रा विकल्प क्या है?

चढ़ाव के दौर में निफ्टी वायदा

चढ़ाव के दौर में निफ्टी वायदा
शुक्रवार को रुपया डॉलर के मुकाबले 69.92 रुपये प्रति डॉलर पर बंद हुआ था। शेयर बाजार के पास मौजूद प्रारंभिक आंकड़ों के मुताबिक, विदेशी निवेशकों ने शुक्रवार को शुद्ध रूप से 1,245.14 करोड़ रुपये की निकासी की। ब्रेंट कच्चा तेल वायदा चढ़ाव के दौर में निफ्टी वायदा 0.27 प्रतिशत बढ़कर 70.81 डॉलर प्रति बैरल पर चल रहा था।

बाजार का कारोबार

शुरुआती कारोबार में सेंसेक्स, निफ्टी में उतार-चढ़ाव

नई दिल्ली/टीम डिजिटल। वैश्विक बाजारों से कमजोर रुख के बीच सोमवार को घरेलू शेयर बाजार में उतार - चढ़ाव भरा रुख रहा। सेंसेक्स और निफ्टी में शुरुआती गिरावट के कुछ देर बाद तेजी का रुख रहा। अमेरिका और चीन के बीच व्यापार विवाद गहराने से निवेशकों ने सतर्क रुख अपनाया।

बंबई शेयर बाजार का 30 शेयरों पर आधारित संवेदी सूचकांक शुरुआती कारोबार में 41.16 अंक यानी 0.11 प्रतिशत बढ़कर 37,504.15 अंक पर पहुंच गया। वहीं, नेशनल स्टॉक एक्सचेंज का निफ्टी शुरुआती दौर में 5.60 अंक यानी 0.05 प्रतिशत बढ़कर 11,284.50 अंक पर पहुंच गया।

शुक्रवार को सेंसेक्स 95.92 अंक यानी 0.26 प्रतिशत गिरकर 37,462.99 अंक पर; निफ्टी 22.90 अंक यानी 0.20 प्रतिशत की गिरावट के साथ 11,278.90 अंक पर बंद हुआ था। अमेरिका और चीन के बीच व्यापार वार्ता विफल रहने के बाद अन्य एशियाई बाजार में गिरावट का रुख रहा।

8 अप्रैल को निफ्टी में भी तेजी, सेंसेक्स 400 अंक उछला

8 अप्रैल को निफ्टी में भी तेजी, सेंसेक्स 400 अंक उछला

बाजार का कारोबार

7 April 2022 1 mins 36 secs

7 अप्रैल को लाल निशान पर बंद हुआ शेयर बाजार, सेंसेक्स 59,035पर और निफ्टी 17,665 पर हुआ बंद

7 अप्रैल को लाल निशान पर बंद हुआ शेयर बाजार , सेंसेक्स 59,035 पर और निफ्टी 17,665 पर हुआ बंद

बाजार का कारोबार

30 March 2022 1 mins 44 secs

30 मार्च को हरे निशान पर बंद हुआ चढ़ाव के दौर में निफ्टी वायदा चढ़ाव के दौर में निफ्टी वायदा शेयर बाजार, सेंसेक्स 58,684 पर और निफ्टी 17,472 पर हुआ बंद

30 मार्च को हरे निशान पर बंद हुआ शेयर बाजार, सेंसेक्स 58,684 पर और निफ्टी 17,472 पर हुआ बंद

बाजार का कारोबार

29 March 2022 1 mins 28 secs

29 मार्च को हरे निशान पर बंद हुआ शेयर बाजार, सेंसेक्स 57,944 पर और निफ्टी 17,325 पर हुआ बंद

29 मार्च को हरे निशान पर बंद हुआ शेयर बाजार, सेंसेक्स 57,944 पर और निफ्टी 17,325 पर हुआ बंद

आज का बाजार

28 March 2022 1 mins 42 secs

वैश्विक रुख तय करेगा शेयर बाजारों की दिशा, कायम रहेगा उतार-चढ़ाव का दौर : विशेषज्ञ

रूस-यूक्रेन संघर्ष, मासिक डेरिवेटिव अनुबंधों के निपटान तथा कच्चे तेल की ऊंची कीमतों की वजह से इस सप्ताह शेयर बाजारों में उतार-चढ़ाव रहने के आसार है। विश्लेषकों ने यह राय जताई है।

विश्लेषकों का कहना है कि भू-राजनीतिक तनाव और आपूर्ति-पक्ष की चिंताएं निवेशकों की धारणा को प्रभावित करती रहेंगी।

स्वस्तिका इन्वेस्टमार्ट लि. के चढ़ाव के दौर में निफ्टी वायदा शोध प्रमुख संतोष मीणा ने कहा, ‘‘इस सप्ताह मार्च के वायदा एवं विकल्प (एफएंडओ) अनुबंधों का निपटान है, जिससे बाजार के दायरे के बारे में दिशा मिलेगी। वैश्विक बाजारों में भी अब सुधार और कुछ स्थिरता दिख रही है। हालांकि, रूस-यूक्रेन के मुद्दे की वजह से अभी अनिश्चितता कायम है और इससे बाजार में उतार-चढ़ाव रहेगा।’’ मीणा ने कहा कि भू-राजनीतिक तनाव तथा आपूर्ति-पक्ष की चिंता में कच्चे तेल के दाम फिर ऊंचाई पर पहुंच गए है। यदि इनमें और तेजी आती है, तो यह भारतीय बाजार की चिंता बढ़ाएगा।

अमेरिकी चुनाव का असर: भारतीय शेयर बाजार में जोरदार तेजी, सेंसेक्स ने लगाई 503 अंकों की छलांग

अमेरिकी चुनाव का असर: भारतीय शेयर बाजार में जोरदार तेजी, सेंसेक्स ने लगाई 503 अंकों की छलांग

नॉमिनी बनाने की प्रक्रिया बेहद आसान होती है. आप डीमैट अकाउंट खोलते वक्त ही किसी को नॉमिनी बना सकते हैं. अगर आपने अकाउंट खोलते वक्त किसी को नॉमिनी नहीं बनाया है तो बाद में फॉर्म भर कर इसे अपडेट करा सकते हैं. अगर विकल्प मौजूद है तो खाता खोलते वक्त ही नॉमिनी का नाम चढ़ाव के दौर में निफ्टी वायदा भर देना चाहिए.

Nov 03, 2020 | 4:57 PM

अमेरिका में राष्ट्रपति चुनाव से पहले वैश्विक बाजारों का रुख सकारात्मक नजर आया. मंगलवार को बीएसई का 30 शेयरों वाला सेंसेक्स (Sensex) 503.55 अंक उछाल के साथ 40,261.13 अंक पर बंद हुआ. इसी तरह चढ़ाव के दौर में निफ्टी वायदा नेशनल स्टॉक एक्सचेंज (National Stock Exchange) का निफ्टी 144.35 अंक की बढ़त के साथ 11,813.50 अंक पर कारोबार कर रहा था. मंगलवार को शुरुआती कारोबार में ही सेंसेक्स 400 से अधिक अंक चढ़ गया था.

हाजिर मांग के कारण कच्चा तेल की कीमतों में तेजी

मजबूत हाजिर मांग के कारण कारोबारियों ने अपने सौदों के आकार को बढ़ाया जिससे वायदा बाजार में कच्चा तेल की कीमत मंगलवार को 38 रुपये की तेजी के साथ 2,769 रुपये प्रति बैरल हो गयी. मल्टी कमोडिटी एक्सचेंज में नवंबर महीने की डिलिवरी वाले कच्चा तेल अनुबंध की कीमत 38 रुपये यानी 1.39 प्रतिशत की तेजी के साथ 2,769 रुपये प्रति बैरल हो गयी. इसमें 3,043 लॉट के लिये कारोबार हुआ.

मंगलवार को शेयर बाजार में तेजी से निवेशकों को जोरदार फायदा हुआ. कुछ ही मिनटों के चढ़ाव के दौर में निफ्टी वायदा कारोबार में निवेशकों को 1 लाख करोड़ रुपए से ज्यादा का फायदा हुआ. सोमवार को बीएसई पर लिस्टेड कुल कंपनियों का मार्केट कैप 1,57,18,574.96 करोड़ रुपए था, जो आज 1,31,336.77 करोड़ रुपए बढ़कर 1,58,49,911.73 करोड़ रुपए हो गया.

सोमवार को 144 अंक चढ़कर बंद हुआ था सेंसेक्स

उतार-चढ़ाव के बीच कारोबार के बाद घरेलू शेयर बाजार सोमवार को आखिरकार बढ़त के साथ बंद हुआ. सेंसेक्स बीते सत्र से करीब 144 अंक चढ़कर 39,758 पर बंद हुआ, जबकि निफ्टी 27 अंकों की बढ़त के साथ 11,669 पर ठहरा. बैंकिंग और वित्तीय सेक्टर के शेयरों में लिवाली से बाजार को सपोर्ट मिला. सेंसेक्स पिछले सत्र से 143.51 अंकों यानी 0.36 फीसदी की तेजी के साथ 39,757.58 पर बंद हुआ और निफ्टी भी 26.75 अंकों यानी 0.23 फीसदी की बढ़त के साथ 11,669.15 पर ठहरा.

बता दें बाजार में चल रहे रहे उतार चढ़ाव की वजह कोरोना वायरस के मामलों में बढ़ोतरी, अमेरिका में राहत पैकेज में देरी और अमेरिका-चीन के बीच चल रहे तनाव को माना जा रहा है. ज्यादातर इंवेस्टर्स इस बात से परेशान हैं कि COVID-19 के मामलों में तेजी की वजह से कहीं सरकार दोबारा लॉकडाउन की घोषणा न कर दे. एक्सपर्ट्स की मानें तो अभी बाजार में उतार चढ़ाव का दौर जारी रहेगा. ऐसे में निवेशकों को सावधानी पूर्वक इंवेस्टमेंट करनी चाहिए.

Share Market : सकारात्मक शुरुआत के बाद सेंसेक्स-निफ्टी में दर्ज हुई गिरावट

Share Market : सकारात्मक शुरुआत के बाद सेंसेक्स-निफ्टी में दर्ज हुई गिरावट

एशियाई बाजारों से कमजोर रुझानों के बीच मासिक डेरिवेटिव सौदों की कटान से पहले प्रमुख शेयर सूचकांक सेंसेक्स और निफ्टी में गुरुवार को तेजी के बाद गिरावट देखी गई। इस दौरान 30 शेयरों वाला बीएसई सूचकांक 67.33 अंक या 0.13 प्रतिशत की गिरावट के साथ 50,950.19 पर और व्यापक एनएसई निफ्टी 11.20 अंक या 0.07 प्रतिशत गिरकर 15,290.25 पर कारोबार कर रहा था।

सेंसेक्स में सबसे अधिक एक प्रतिशत की गिरावट एशियन पेंट्स में रही। इसके अलावा बजाज फिनसर्व, बजाज फाइनेंस, इंडसइंड बैंक, एचयूएल और मारुति भी लाल निशान में थे। दूसरी ओर टेक महिंद्रा, टीसीएस, टाइटन और एचसीएल टेक हरे निशान में थे।

रेटिंग: 4.86
अधिकतम अंक: 5
न्यूनतम अंक: 1
मतदाताओं की संख्या: 717
उत्तर छोड़ दें

आपका ईमेल पता प्रकाशित नहीं किया जाएगा| अपेक्षित स्थानों को रेखांकित कर दिया गया है *